बिपिन रावत (Bipin Rawat) : बिपिन रावत जीवन परिचय , मौत ! 100% जानकारी !

bipin rawat biography in hindi
bipin rawat biography in hindi

बिपिन रावत बायोग्राफी इन हिंदी , बिपिन रावत बायोग्राफी , Bipin Rawat Biography in hindi , Bipin Rawat Biography

बिपिन रावत बायोग्राफी इन हिंदीBipin Rawat Biography in hindi – आज इस पोस्ट के माध्यम से हम बिपिन रावत (Bipin Rawat) के बारे में जानने की कोशिश करेंगे !  क्या आपको पता है ??? बिपिन रावत (Bipin Rawat) कौन हैं और कहाँ की रहने वाले है ? (Who was Bipin Rawat & where was he from), अगर आपको ये नहीं मालूम है तो यहाँ हम आपको बिपिन रावत (Bipin Rawat) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे ! आज हम आपको कई सवालों के जवाब एक साथ देंगे ! 

bipin rawat biography in hindi

नाम – बिपिन रावत (Bipin Rawat)
उपनाम – बिपिन रावत
जन्म –  16 मार्च 1958
जन्म स्थान – पौड़ी , उत्तराखंड 
पत्नी का नाम – मधुलिका सिंह रावत
पेशा – CDS , CHEIF OF DEFENCE STAFF
 
शिक्षा – Mphil
राष्ट्रीयता – indian 
Email Id :  Not Available
Official Website :  Not Available

Phone Number : Not Available
WhatsApp Number :  Not Available
Office Phone Number :  Not Available
Height (approx.) – 170 cm /  1.7 m/  5′7″
Weight (approx.) –  65 kg

Eye Colour – Black
Hair Colour –  Black
Residence Address  : Delhi
Net worth –  
Twitter – 
Instagram – 
Biography / जीवनी

  • cds bipin rawat
  • general bipin rawat
  • gen bipin rawat
  • bipin rawat wife
  • bipin rawat salary
  • bipin rawat family
  • cds bipin rawat salary
  • cds bipin rawat salary
  • who is bipin rawat
  • bipin rawat kaun hai
  • bipin rawat age
  • bipin rawat awards
  • bipin rawat daughters
  • bipin rawat daughters
  • बिपिन रावत
  • जनरल बिपिन रावत
  • बिपिन रावत मराठी
  • बिपिन रावत फोटो
  • बिपिन रावत न्यूज़
  • बिपिन रावत हेलीकॉप्टर दुर्घटना
  • बिपिन रावत कौन है
  • बिपिन रावत को कितनी सैलरी मिलती है
  • बिपिन रावत की हिंदी फिल्म

बिपिन रावत बायोग्राफी इन हिंदी , बिपिन रावत बायोग्राफी , Bipin Rawat Biography in hindi , Bipin Rawat Biography

  • जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) का जन्म 16 मार्च 1958 को हुआ था वह हिंदू गढ़वाली राजपूत परिवार में पैदल गए थे ! उनके पिताजी का नाम लक्ष्मण सिंह था उनके पिताजी ने भी भारतीय सेना की सेवा की थी वह लेफ्टिनेंट जनरल के पद से रिटायर हुए थे उनकी मां उत्तरकाशी जिले की निवासी थी और उनकी मां के पिताजी किशन सिंह परमार पूर्व एमएलए रहे हैं !
  • जनरल बिपिन रावत PVSM , UYSM , AVSM , YSM , SM , VSM , ADC से सम्मानित किए गए हैं ! वह भारतीय सेना के चार सितारा वाले जनरल में से एक थे जनरल बिपिन रावत ने भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति पाई थी ! भारत सरकार ने 30 दिसंबर 2019 को जनरल बिपिन रावत को देश का पहला सीडीएस नियुक्त किया था उन्होंने यह पदभार 1 जनवरी 2020 को ग्रहण किया था
  • जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) में भारतीय सेना के 27 में सेना अध्यक्ष के रूप में कार्य किया था ! 8 दिसंबर 2021 को भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर MI-17 से दुर्घटनाग्रस्त होकर जनरल बिपिन रावत की मृत्यु हो गई ! उनके साथ उनकी पत्नी और उनके कुछ निजी स्टाफ मौजूद थे यह सभी दुर्घटना में शहीद हुए !
  • जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) का जन्म उत्तराखंड के पौड़ी नामक स्थान पर एक राजपूत परिवार में हुआ था ! उनका परिवार कई पीढ़ियों से देश के सेना के प्रति समर्पित होकर सेवाएं दे रहा था बिपिन रावत ने डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज वेलिंगटन और यूनाइटेड स्टेट्स आर्मी कमांड के हायर कमांड कोर्स में जनरल स्टाफ कॉलेज से भी स्नातक की डिग्री हासिल की थी ! उन्होंने रक्षा अध्ययन में एमफिल भी किया था इसके साथ-साथ उन्होंने कंप्यूटर में भी डिप्लोमा किया था 2011 में जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) को चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय द्वारा डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया था !
  • जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) को देहरादून में कैंब्रियन हॉल स्कूल और सैंट एडवर्ड स्कूल शिमला उसके बाद फिर राष्ट्रीय रक्षा अकैडमी खड़कवासला और भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून में शामिल किया गया ! यहां उन्हें स्क्वायड ऑफ ऑनर से नवाजा गया जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) को पांचवें बटालियन कि गोरखा राइफल्स टीम में नियुक्त किया गया था ! इस बटालियन में उनके पिता ने भी काम किया था जनरल बिपिन रावत को उच्च ऊंचाई वाले युद्ध का अच्छा अनुभव था और उन्होंने आतंकवाद विरोधी अभियानों में देश की काफी मदद की थी !
  • 2015 में यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ वेस्टर्न साउथईस्ट एशिया से संबंधित उग्रवादियों द्वारा जब मणिपुर में भारतीय सेना के 18 सैनिक मारे गए थे ! तब भारतीय सेना ने इन सैनिकों के मारे जाने का बदला लेने का निश्चय किया था जिसमें पैराशूट रेजीमेंट की 21 वीं बटालियन मयमार में एन एस सी एन बेस्ट जाकर इसका बदला लिया था तब इस बटालियन की कमान बिपिन रावत (Bipin Rawat) के हाथ में ही थी !
  • उन्होंने मेजर के रूप में जम्मू-कश्मीर के उरी में भी कमान संभाला इसके बाद कर्नल के रूप में विवो पूर्वी सेक्टर के अलग-अलग जगहों पर कमान संभालने का मौका मिला ! उसके बाद ब्रिगेडियर के पद पर पहुंचने के बाद उन्होंने सोपोर में राष्ट्रीय रायफल्स के कमान संभालने की बेहतरीन कोशिश की उन्हें दो बार फोर्स कमांडेंट कमेंडेशन से सम्मानित भी किया गया !
  • मेजर चैनल पद पर पहुंचने के बाद रावत को फिर उरी के जनरल ऑफिसर कमांडिंग का प्रभार मिला इसमें रावत 19 मी इन्फैंट्री डिवीजन में काम किया ! इसके बाद उन्होंने पुणे में दक्षिणी सेना को संभालने के लिए लेफ्टिनेंट जनरल बनाकर भेजा गया ! उन्होंने भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून मैं साइन संचालन निदेशालय में जनरल स्टाफ ऑफिसर इन्फेंट्री डिविजन लॉजिस्टिक स्टाफ ऑफिसर इत्यादि का पद विषम वाला उन्होंने पूर्वी कमान के मेजर जनरल स्टाफ के रूप में भी काम संभाला सेना कमांडर ग्रेट में पदोन्नति होने के बाद 1 जनवरी 2016 को दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ का पद भी उन्हें दिया गया इतने छोटे से कार्यकाल में उन्हें थल सेना के उप प्रमुख  का पद मिला !
  • सन 2016 को भारत सरकार ने दो वरिष्ठ अधिकारी को छोड़ते हुए उन्हें 27 में थल सेना प्रमुख के रूप में नियुक्त किया उन्होंने दलबर सिंह सुहाग का जगा लिया ! इसके बाद उन्हें भारतीय सेना के सीडीएस के रूप में काम मिला वह फील्ड मार्शल मानेकशॉ और जनरल दलबीर सिंह सुहाग के बाद गोरखा ब्रिगेड के थल सेना अध्यक्ष बनने वाले तीसरे अधिकारी थे ! 2019 में अमेरिका की यात्रा के दौरान जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) को यूनाइटेड स्टेट्स आर्मी कमांड के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया वह नेपाली सेना के मानद जनरल भी थे भारतीय और नेपाली सेनाओं के बीच एक दूसरे के प्रमुखों को उनके करीबी एवं विशेष सैन्य को दर्शाने के लिए जनरल की मानद उपाधि रैंक की परंपरा रही है !
  • नई दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने पश्चिमी सभ्यता और ईरान जैसे देशों के साथ चीन के संबंध होने में सभ्यताओं के टकराव का सिद्धांत बताया ! 1987 के युद्ध के दौरान जनरल बिपिन रावत की बटालियन को चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी के खिलाफ तैनात किया गया जो 1962 के युद्ध के बाद मैक मोहन रेखा पर गतिरोध का पहला सैन्य टकराव था जनरल बिपिन रावत की शादी मधुलिका राजेश सिंह से हुई थी उनकी दो बेटियां हैं कृतिका और तारिणी !
  • 8 दिसंबर 2021 को जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) उनकी पत्नी और अन्य भारतीय वायु सेना के अधिकारी mi-17 पर सवार थे जो तमिलनाडु के कुन्नूर में एयर बेस स्टेशन सुलुर की तरफ जा रहे थे ! वेलिंग्टन के रास्ते में यह हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिससे जिससे बिपिन रावत समेत 11 लोगों की मौत की पुष्टि भारतीय वायु सेना द्वारा की गई ! इस समय जनरल बिपिन रावत की आयु 63 वर्ष थी लगभग 45 वर्षों तक भारतीय सेना के सेवा के दौरान उनको अलग-अलग पदक और उपाधियों से सम्मानित किया गया उन्हें दो अफसरों पर परम विशिष्ट सेवा पदक उत्तम युद्ध सेवा पदक बिधता सेवा पदक इत्यादि पद कौन से सम्मानित किया गया !
  • बिपिन रावत बायोग्राफी इन हिंदी , बिपिन रावत बायोग्राफी , Bipin Rawat Biography in hindi , Bipin Rawat Biography

दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) : दीपिका पादुकोण जीवन परिचय

कटरीना कैफ़ (Katrina Kaif) : कटरीना कैफ़ जीवन परिचय

स्वामी विवेकानंद (Swami vivekanand) : स्वामी विवेकानंद जीवन परिचय

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) : मुंशी प्रेमचंद जीवन परिचय

By HINDUYOJANA

Contact Us अगर आप हमसे संपर्क करना चाहते हैं, या फिर आप किसी नए पोस्ट के लिए हमसे Request करना चाहते हैं तो इसके लिए आप हमसे निचे दिए गए पटे पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमे ईमेल करके संपर्क कर सकते हैं, अगर आप चाहे तो हमे फेसबुक और ट्विटर पर भी मैसेज भेज सकते हैं। जब भी हमे आपका मेसेज प्राप्त होगा, हम उसके अगले दिन ही आपसे संपर्क करेंगे। हमसे कांटेक्ट करने के लिए आप निम्न बातो का ध्यान रखना बिलकुल भी ना भूलिए। 1. आप अगर कोई पेड पोस्ट करवाना चाहते हैं, तो उसके लिए आप हमारे अबाउट उस पेज पर दिए ईमेल पर जाकर संपर्क कर सकते हैं,खासकर अगर आप ब्लॉगर हैं तो आप हमसे गेस्ट पोस्ट के लिए Request भेज सकते हैं, गेस्ट पोस्ट के लिए ईमेल में सब्जेक्ट में गेस्ट पोस्ट लिखकर भेजें। अगर आपका पोस्ट अच्छा रहा तो हम उसको जरूर स्वीकार करेंगे। 2. अगर आप किसी सेलेब्रेटी का कांटेक्ट नंबर ऐड करवाना चाहते हैं तो उसके लिए आप सब्जेक्ट में Request लिखकर परइ जानकारी के लिए भेजें। 3. अगर आप अपनी किसी संस्था का संपर्क नंबर इस वेबसाइट पर जुड़वाना चाहते हैं तो उसके लिए भी आप हमे हमे ईमेल भेज सकते हैं। ध्यान रहे इसके लिए हमारी कुछ मिनिमम Requirement है, अगर आप वो पूरा करते हैं तो ही हम आपकी संस्था का नंबर यहाँ पब्लिश कर पाएंगे। ज्यादा जानकारी के लिए आप ईमेल में सवाल पूछ सकते हैं। तो दोस्तों अगर आप किसी पोस्ट को लेकर यहाँ सवाल पूछना चाहते हैं, या फिर कोई आर्टिकल सम्बंधित सवाल पूछना चाहते हैं, तो इसके लिए आप उसी आर्टिकल के पेज पर जाकर कमेंट करिये, इसको लेकर आपको ईमेल करने की कोई जरुरत नहीं है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.